Tuesday, October 27, 2020

Computer users अपनी आखो की देखभाल इस तरह करे - Hindi knows

कंप्यूटर पर लगातार काम करने से सबसे ज्यादा हमारी आंखों पर दबाव पड़ता है और आपकी सेहत बिगड़ सकती है साथ ही कंप्यूटर की स्क्रीन पर लगातार नजर रखने से आँखों की रोशनी कम हो सकती है। आँखें हमारे शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग है इसलिए यहां मैं कंप्यूटर की स्क्रीन की लाइट से आंखों को बचाने के 10 बढ़िया तरीके बता रहा हु।

Computer users अपनी आखो की देखभाल इस तरह करे - Hindi knows

मोबाइल और कंप्यूटर की स्क्रीन से निकलने वाली रोशनी आँखों के लिए नुकसानदायक होती है जैसे नजर का कम होना, दूर का धुंधला दिखाई देना और पास भी धुंधला दिखाई देना और आँखों में से पानी आना आदि आंखों की रोशनी कम होने की वजह है।

अगर आपको ऐसी कोई समस्या है या फिर आप कंप्यूटर पर काम करते है तो यहां बताए तरीके आपके बहुत काम आयेंगें। इन तरीकों को फॉलो करके आप अपनी आंखों की रोशनी कम होने से बचा सकते है और कंप्यूटर पर लंबे समय तक काम कर सकते है।

आंखों में जब ड्राईनेस की समस्या होती है तो व्यक्ति को बार-बार ऐसा लगता है कि आंख में कुछ गिर गया है, जबकि ऐसा होता नहीं है। आंख में किरकिराहट की यह दिक्कत ड्राईनेस की वजह से होती है। इस स्थिति में आंखों तो तुरंत मिनरल वॉटर से धोना चाहिए। आंखों को रगड़ने से बचें नहीं तो आंखों को अधिक नुकसान हो सकता है।


इन वजहों से भी होती है ड्राई आई-

आंखों में ड्राइनेस की तेजी से बढ़ती समस्या की वजह खासतौर पर युवाओं में तो स्क्रीन टाइमिंग ही है। लेकिन इसके अलावा और भी कई ऐसी वजहें होती हैं, जिनसे आंखों में ड्राईनेस होती है। जैसे, कोई एलर्जी, किसी दवाई का साइडइफेक्ट, किसी तरह के इंफेक्शन की चपेट में आना या बढ़ती उम्र के कारण होने वाली समस्याएं। जैसे, महिलाओं में मेनॉपॉज और पुरुषों में हॉर्मोनल इंबैलंस।


महिलाएं पहले होती हैं शिकार-

स्क्रीनिंग टाइम अधिक होने के साथ ही कॉन्टेक्ट लैंस का इस्तेमाल, कॉन्टेक्ट लैंस को Proper Moisturize पर मॉइश्चराइज ना करना, किसी सर्जरी के कारण, थाइरॉइड के कारण। आंखों में ड्राईनेस की समस्या महिलाओं में पुरुषों के मुकाबले अधिक और कम उम्र में देखने को मिलती है। इसकी वजह हॉर्मोनल चेंजेज होते हैं।


इस तरह करे अपनी आखो की देखभाल-


1 कंप्यूटर स्क्रीन को आंखों से 18 से 20 इंच दूर रखें

कंप्यूटर या लैपटॉप पर काम करते समय ध्यान रखें की कंप्यूटर और आपकी आंखों के बीच की दुरी 20 इंच है इसके अलावा चमक फिल्टर विरोधी गिलास वाला चश्मा पहनो तो बेहतर है।

इससे कंप्यूटर की स्क्रीन से आने वाली ब्राइटनेस आपके चश्में के गिलास से टकरा कर रुक जाएगी, अगर आप कंप्यूटर पर लगातार काम करते है तो आपके लिए ये बहुत जरुरी है।


2 कंप्यूटर के सामने सही तरीके से बैठें

जहां तक हो सके कोशिश करें की कंप्यूटर मोनिटर किसी लाइट के नीचें ना हो साथ ही स्क्रीन का उपरी भाग आपकी आंखों के बराबर होना जरुरी है कंप्यूटर की स्क्रीन को ज्यादा ऊपर या नीचें ना रखें।

कंप्यूटर के सामने किस पोजीशन में बैठना है इसके लिए आप इस इंफोग्राफिक को देखकर समझ सकते है कंप्यूटर की स्क्रीन को आपकी आँखें नीचें की तरफ देखनी चाहिए।


3 ब्राइटनेस कम करें

जब आप कंप्यूटर पर काम कर रहे हों, तो स्‍क्रीन की ब्राइटनेस कम कर लें। ब्राइटनेस को आंखों के हिसाब से रखें ताकि आंखों पर ज्‍यादा तीखी रोशनी न पड़ें।


4 कम्‍प्‍यूटर ग्‍लास लगाएं

नाम से ही आपको समझ में आ गया होगा कि कम्‍प्‍यूटर पर बैठने के लिए एक स्‍पेशल चश्‍मा होता है जिसमें एंटी - लेयर ग्‍लास होते है। इससे आपकी आंखों की रोशनी पर निगेटिव इम्‍पेक्‍ट नहीं पड़ेगा और आंखें हमेशा सही बनी रहेगी।


5 आँखों की एक्सरसाइज और योग

लगातार कंप्यूटर पर काम न करें, बल्कि हर 20 मिनट के बाद अपनी नज़रें स्क्रीन से हटाएँ और 10 फ़ीट रखी किसी दूसरी चीज़ को देखें। इससे आँखों की एक्सरसाइज होती है। इसके अलावा आँखें बंद करके कुछ देर ध्यान लगाएँ।

जिन लोगों की आँखें कमज़ोर हो गई हैं, वे रोज़ाना योग, व्यायाम और एक्सरसाइज से आँखों की रोशनी बढ़ा सकते हैं। योग को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाएँ।


6 अपनी डाइट का रखें ख़ास ख़्याल

लगातार कंप्यूटर स्क्रीन पर काम करने वाले लोगों को अपनी डाइट का ख़ास ख़्याल रखना चाहिए।

उन्हें अपनी डाइट में जंक फ़ूड और तैलीय फ़ूड की बजाय पौष्टिक चीज़ों को शामिल करना चाहिए।

उन्हें भीगे बादाम, अंकुरित अनाज, हरी सब्ज़ियाँ, मछली, फल, 8-9 गिलास पानी, गाजर, बींस, माँस, बेरिज, अंडा, नट्स जैसी चीज़ों का सेवन करना चाहिए। ये आँखों की सुरक्षा करने के साथ ही आँखों की रोशनी भी बढ़ाते हैं।




यदि आपको आँखों की समस्या काफी समय से हो रही है तो इसे नजरअंदाज ना करें और किसी अच्छे डॉक्टर के पास इलाज करवाएं। क्योंकि आँखों के बिना हम किसी काम के नहीं है अगर आँखें खराब हो गई तो आपकी दुनिया अंधीं हो जाएगी। इसलिए सबसे पहले अपनी आंखों का इलाज करवाएं साथ ही कंप्यूटर पर लगातार काम ना करें बिच बिच में ब्रेक लें या बिच में घुमने की आदत बनाएं साथ ही पलकों को लगातार झपकाते रहें ताकि आपकी आँखे ना सुखें।

दरअसल आंखों में एक तरल होता है जो पलक झपकाने से बनता है अगर आप पलक नहीं झपकायेंगे और लगातार काम करते रहेंगे तो आपकी आँखों में ये तरल नहीं बनेगा जिससे आपकी आँखें सुख जाएगी।



Location: India

3 comments:

  1. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
    Replies
    1. https://www.hindiknows.in/p/hello-friends-all-of-you-are-very.html

      Delete
  2. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete